Indian Railway main logo Welcome to Indian Railways
View Content in English
National Emblem of India

हमारे बारे में

Indent & Supply

विभाग

समाचार और सूचना

प्रदायक सूचना

निविदा सूचना

विभिन्न

हमसे संपर्क करें



Bookmark Mail this page Print this page
QUICK LINKS

 

बिजली विभाग

1. संगठनात्‍मक ढ़ांचा:

उप मुख्‍य विजली इंजीनियर  विद्युत दूर एवं संचार विभाग के पूर्ण रुप से प्रभारी है तथा  इलैक्टिकल पावर सप्‍लाई का सस्‍थापन, वातानकूलन संयंत्र तथा दूर  संचार नेटवर्क सहित अन्‍य उपस्‍करों का परिचालन एवं अनुरक्षण कार्यो की देख रेख  करते हैं। उप मुख्‍य बिजली इंजीनियर, डी.एम.डब्‍ल्‍यू बिजली निरीक्षण तथा मुख्‍य बिजली इंजीनियर, उत्‍तर रेलवे के नियंत्रण में सहायक बिजली निरीक्षण के रुप में भी कार्यरत है। उप मुख्‍य बिजली इंजीनियर मुख्‍य यांत्रिक इंजीनियर को रिपोर्ट करते हैं। बिजली विभाग का संगठनत्‍मक चार्ट नीचे दर्शाया गया है।            

 

बिजली विभाग का संगठनात्‍मक चार्ट

 

 

उप मुख्‍य बिजली इंजीनियर

(अनुराग कुमार गुप्‍ता)

 

 

 

 

 

 

   बिजली

 

                                         दूर-संचार

 

 

 

 

 

 

का.बिजली इंजी

सहा.बिजली इंजी./ कालोनी

सहा.बिजली इंजी./ आर.ए.सी.

        ए.एस.टी.ई.

(हरचरण सिंह)

 

 

(बिपन कुमार शर्मा)

(रजिन्‍दर सिंह)

(बिपन कुमार शर्मा)         

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

एस.एस.ई/एम.आर.एस.

 

एस.एस.ई/कालोनी

 

एस.एस.ई/आर.ए.सी.

 

एस.एस.ई/दूरसंचार

 

             

 

 

2. उत्‍तरदायित्‍व:

·        बिजली विभाग निम्‍नलिखित के लिए उत्‍तरदायी है:

·        पी.एस पी.सी एल­. के 66 के बी की बिजली की खरीद

·        पावर सप्‍लाई की गुणवत्‍ता का सुधारना

·        बिजली परिसम्‍पतियों का परिचालन एवं अनुरक्षण

·        ऊर्जा के गैर पारम्‍परिक स्रोतों को प्रोत्‍साहन

·           स्‍टैंड बाई डी जी सेटों का परिचालन एवं अनुरक्षण

·           दूर संचार सुविधाओं का परिचालन एवं अनुरक्षण

3. बिजली आपूर्ति (पावर सप्‍लाई )

* डी.एम.डब्‍ल्‍यू पी एस पी  सी एल से विद्युत ऊर्जा खरीदता है। अबलोवाल स्थित 220 के  वी ग्रिड सब स्‍टेशन  से 66 केवी को बिजली पावर सप्‍लाई वर्कशाप तथा कालोनी के संपूर्ण परिसर के लिए प्राप्‍त की जाती है। यह सप्‍लाई 10 कि.मी. लम्‍बी 66 के बी की सिंगल सर्किट की ओवरहैड लाईन द्वारा प्राप्‍त की जाती है जिसका अनुरक्षण पी. एस पी सी एल  के माध्‍यम से किया जाता है । 66  के वी बिजली आपूर्ति को डी.एम.डब्‍ल्‍यू वर्कशाप में एम आर एस में 6.3/8.0 एम बी ए क्षमता के दो टांसफार्मरों द्वारा 11 के बी तक कम किया जाता है । तत्‍पश्‍चात वर्कशाप क्षेत्र में स्थित सात बिजली सब स्‍टेशनों व तीन बिजली सब स्‍टेशनों के 11 के बी एच टी के नेटवर्क के  माध्‍यम से विभिन्‍न लोड  सेन्‍टरों को बिजली आपूर्ति वितरित की जाती है। सभी 10 बिजली सब स्‍टेशन एच टी रिंग अंडरग्राउंड केबल सिस्‍टम से जुडे़ हुए हैं । रिंग्‍स के सभी एच टी केबल चालू हालत में है।

*   वर्तमान में डी.एम.डब्‍ल्‍यू का कुल स्‍वीकृत सम्‍बद्ध लोड 25566 के डब्‍ल्‍यू है तथा स्‍वीकृत  संविदा  मांग 17694 के  वी ए है। पी.एस पी.सी एल की बिजली दर सिंगल पार्ट टैरिफ है तथा टैरिफ का विवरण सी टी ए पर उपलब्‍ध है। जोकि पी एस पी सी एम एल की  तरफ से खपतकार एल एस -4 के लिए है।                                                   

 

*  डी एम डब्‍ल्‍यू पावर स्प्‍लाई के पावर फैक्‍टर का स्‍तर 1.00(यूनिटी)  पर कायम रखा गया है जो पंजाब के उद्योग क्षेत्र में एक सर्वोत्‍तम पावर फैक्‍टर है । पावर फैक्‍टर को सुधारने के लिए प्रत्‍येक बिजली सब स्‍टेशन  पम्पिंग, संस्‍थापन तथा रोड  लाईट फीडर पीलर को  एल टी. पावर कैपिसटर बैंक उपलब्‍ध  कराया गया है।

* डी एम डब्‍ल्‍यू द्वारा नियंत्रण कक्ष सहित 66/11 के बी स्विच यार्ड का अनुरक्षण एम आर एस में किया जाता है। किन्‍तु सभी उपस्‍करों का आवधिक परीक्षण छमाही आधार पर वाष्टि कार्यकारी इंजीनियर/प्रोटेक्‍शन /पी एस पी सी एल के  द्वारा  कराया जा रहा है।

 

4. स्‍टैंड बाई पावर सप्‍लाई :-

 

तीन छोटे  डी जी सेट कालोनी में है , जो पम्‍पों अस्‍पताल , आफीसर रेस्‍ट हाऊस और डी एम डब्‍ल्‍यू हाऊस ( 125 के.बी. ) डी जी सेट  एस एस ई / कालोनी आफिस ( 70 के वी ए) ई एस एस -।। कालोनी -।।, और 50 के बी ए  ई .एस एस -।। कालोनी -।। एक डी जी सेट 15 के बी ए का एम आर एस में है, एक डी जी सेट 7.5 के बी ए दूर संचार विभाग में कार्यरत है जोकि विधुत सप्‍लाई आपातकालीन के लिए प्रयोग में लाए जाते हैं।

5. जल आपूर्ति :

 

बिजली के 10 सबमर्सीबल पम्‍प अलग अलग गहरे बोर कुओं में लगाए गए है । जिनमें दो कालोनी -। में, पांच कालोनी -।। में तथा तीन वर्कशाप में स्थित हैं ।सभी पम्‍प अच्‍छी एंव चालू हालत में हैं । इन सभी पम्‍पों का परिचालन एवं अनुरक्षण स्‍वचालित टाइमर तथा जल स्‍तर नियंत्रकों द्वारा किया जाता है तथा ऊर्जा खपत की मोनीटरिंग की जाती है। परिचालन समय उप मुख्‍य इंजीनियर के परामर्श से तय किया जाता है ।

  कालोनी -।। में एक  मुख्‍य सीवरेज ट्रीटमेंट प्‍लांट है। जिसका परिचालन तथा अनुरक्षण सिविल विभाग द्वारा ए. एम सी पर दिया जा रहा है । किन्‍तु  ए एम सी के अनुसार यह बिजली विभाग द्वारा इलैट्रीकल स्विच गियरों की बड़ी मुरम्‍मत है। मुख्‍य एस टी पी के अलावा वर्कशाप क्षेत्र में चार और छोटे सीवरेज पम्‍प कार्य कर रहे है जिनका परिचालन एंव अनुरक्षण बिजली विभाग करता है।

6. वातानुकूलन :

सी एन सी मशीनों की वातानुकूलन मांग को पूरा करने के लिए वर्कशाप क्षेत्र का महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा केन्‍द्रीय  वातानुकूलन से कवर किया गया है । निम्‍नलिखित शॉप / भवनों में वातानुकूलन के लिए केन्‍द्रीय / पैकेज प्‍लांट उपलब्‍ध कराए गये है।

 

      स्थिति

  प्‍लांट  की क्षमता

*  एल एम एस एसी बे

4x60 टी आर

 * एन सी लेथ एरिया (एल एम एस)

                                          3x30 टी आर

* क्‍वायल शाप ( टी एम एस)

16.5x4  टी आर

* एच टी एस चिलिंग यूनिट ( एव एम एस)

3x30 टी आर

* इलैक्‍ट्रानिक लैब

3x7.5  टी आर

* एच एम एस शाप ( पामा मशीन)

5 x60 टी आर एंवम    1x40 टी आर

* टी टी सी

2 x7.5  टी आर

* कंप्‍यूटर भवन ( ई डी पी सेन्‍टर)

3x15 टी आर

 

उपर्युक्‍त 28 ए सी प्‍लांटों के अतिरिक्‍त लगभग 65 आयल चिल्‍लर यूनिटें त‍था अलग – अलग मशीन के लिए 85 पैनल माउटेंड एयर कडीश्‍नर लगभग 118 विंडो  ए.सी. व  माउटेंड एयर कंडीशनर, लगभग 118 विन्‍डो ए सी ,142 स्पिल्टि ए.सी. यूनिटें 47 वाटर कूलर त‍था 37 रेफिजेरेटर हैा इसके अलावा डी एम डब्‍ल्‍यू के प्रशासनिक भ्‍वन की इमारत को 8  नम्‍बर एयर कूलिंग प्‍लांटों द्वारा सैन्‍ट्रल एयर कूल्‍ड किया गया है।

     

  



         


7.      दूर संचार :

 

डी एम डब्‍ल्‍यू में 1500 लाइनों का एक डिजिटल इलैक्‍ट्रानिक ई पी बी एक्‍स एक्‍सचेंज 29 02 2012 कार्य कर रहा है जो डी एम डब्‍ल्‍यू को आंतरिक संचार सहित अन्‍य यूनिटों तथा  रेलों के कार्यालयों से संचार की सेवाएं उपलब्‍ध कराती है  रेलवे ट्रaaaaaa  लाइनों  को एन.जी.एन./ओ.एफ.सी. सिस्‍टम द्वारा नई दिल्‍ली से जोड़ा गया      है ।

उपर्युक्‍त के अलावा निम्‍नलिखित अन्‍य दूर संचार सुविधाएं भी उपलब्‍ध है:

·        नई दिल्‍ली  में डी एम डब्‍ल्‍यू कैम्‍प  आफिस में  22 लाईनों की ई पी बी एक्‍स एक्‍सचेज

·        36 बी एस एन एन टेलीफोन दो पी आर आई सक्रिट व 11 टाटा डाटा कार्ड

·        एक बीस एम बी पी एस लीज़ लाइन रेल टैल कार्यरत है जिससे सभी सुपरवाइज़रों व अधिकारियों को नेट की सुविधा उपलब्‍ध करवाई गई है।

·        इसी एक्‍सचेंज में 90 इंटर कॉम टेलिफोन सेवाएं भी चल रही हैं।  

 

8. तिलक ब्रिज , नई दिल्‍ली में डी एम डब्‍ल्‍यू कैम्‍प आफिस :           

        तिलक ब्रिज नई दिल्‍ली में स्थित डी एम डब्‍ल्‍यू कैम्‍प आफिस में उपलब्‍ध     करवाए गये सभी बिजली तथा अन्‍य बातानुकूलन / कूलिंग उपस्‍करों का     अनुरक्षण भी बिजली  विभाग द्वारा किया जा रहा है । 15 के बी   का एक     डी जी सैट की भी व्‍यवस्‍था वहां पर की गई है। जो कि आपातकालीन

 विद्युत        सप्‍लाई के लिए प्रयोग में लाया जाता है                                      

 

 

                                    

       

 

 

 

 

 

 

 

 

 

    9.  दक्षता सूची  

 डी.एम.डब्‍ल्‍यू परिसर में कारखाने की बिजली की वर्षवार खपत् :

 

 

वर्ष

वर्कशाप में खपत यूनिटों की संख्‍या

खपत हुई बिजली का मूल्‍याकंन

उत्‍पादन लाख

 (रूपये)

बिजली खपत मुल्‍य प्रति लाख उत्‍पादन (रूपये में)

2007-08

14860043

60039030

52519

1143.18

2008-09

14846156

61935656

68248

907.5

2009-10

14804994

67339352

85295

789.48

2010-11

13712104

59418863

107173

554.42

12- 2011

10640896

57530212

119630

480.90

13- 2012

10563795

65237459

145500

448.37

2013-14

11487624

77902764

173789

448.26

 

       
         
         
         
         
         
         
         
       
430.60
 
 
 
 
 
                       
 
 
 
 
 
 
 
 
                          


 



Source : Welcome to DMW Official Website ! CMS Team Last Reviewed on: 16-08-2017  

  प्रशासनिक लॉगिन | साईट मैप | हमसे संपर्क करें | आरटीआई | अस्वीकरण | नियम एवं शर्तें | गोपनीयता नीति Valid CSS! Valid XHTML 1.0 Strict

© 2010  सभी अधिकार सुरक्षित

यह भारतीय रेल के पोर्टल, एक के लिए एक एकल खिड़की सूचना और सेवाओं के लिए उपयोग की जा रही विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं द्वारा प्रदान के उद्देश्य से विकसित की है. इस पोर्टल में सामग्री विभिन्न भारतीय रेल संस्थाओं और विभागों क्रिस, रेल मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा बनाए रखा का एक सहयोगात्मक प्रयास का परिणाम है.